अभियोजकों ने कहा कि उनके हलफनामे को सार्वजनिक करने से उनकी जांच को “अपूरणीय क्षति” हो सकती है।