मई में नए राष्ट्रपति के चुनाव के बाद से, देश की राजधानी मोगादिशु में हिंसा का यह पहला बड़ा प्रकोप था। विद्रोही समूह अल शबाब ने जिम्मेदारी ली है।