बीबीसी का विश्लेषण संपादक देखता है कि क्या ग्लोबल वार्मिंग को सीमित करने के संयुक्त राष्ट्र के लक्ष्य तक अभी भी पहुंचा जा सकता है।