संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि यह महत्वपूर्ण है कि सौदे को खतरे में न डाला जाए, क्योंकि यूक्रेन रूस पर “झूठे बहाने” का आरोप लगाता है।